Bigg Boss में पहुचने वाली ज्योति ने कहा – शहर की छोरियों से बिहार के गांव की गोरियां कम नहीं

0
40

 शहर की छोरियों से बिहार के गांव की गोरियां कम नहीं

बिग बॉस के घर में पहुंची ज्योति का कहना है कि वह इस घर में रहते हुए अपनी पर्सनालिटी दुनिया को दिखाना चाहती हैं कि बिहार के गांव की लड़कियां भी किसी से कम नहीं।

बिग-बॉस सीजन 11 की प्रतिभागी  बिहार की बेटी ज्योति कुमारी का कहना है कि गांव की लड़कियां किसी से कम नही होती है । बिग-बॉस के माध्यम से  वह कहती हैं कि ‘शहर वालों का मानना है कि गांव की लड़कियां सीधी साधी होती हैं। लेकिन मैं न तो सीधी हूं न तो सादी हूं। इस बार शहर की छोरियों के बीच में गांव की गोरी का होना भी जरूरी है।’

सभी कॉन्टेस्टेंट का बिग बॉस के घर में रहते घर के सदस्यों से जैसी उम्मीदें थीं वह वैसा ही कर रहे हैं। चारों तरफ घर में अशांति का माहौल छाया हुआ है। इस  में बिहार के छोटे से गांव गंगाचल मनकाने की रहने वालीं ज्योति भी घर-सदस्य बनकर बाकि घर सदस्यों के बीच हैं। ज्योति  आत्मनिर्भर है और उनका खुद पर विश्वास है ।  वह बच्चों को ट्यूशन देकर  खुद का खर्चा निकलती है ।

ज्योति की मां कहती  हैं कि ज्योति का स्वभाव ऐसा है कि जहां कुछ गलत हो रहा होगा वह वहां बीच में जाकर बोल देगी। वह खुद भी कहती हैं कि वह एक  मुंह-फट लड़की हैं। वह कहती हैं, ‘मै किसी के पीठ पीछे नहीं  बोलती हु ।  मुझे जिसके बारे में जो बोलना होता है मैं सामने बोलती हूं। जो लोग अमीर गरीब में फर्क करते हैं मैं उन्हें बिलकुल पसंद नहीं करती हूं।

ज्योति  के पिता ने बताया,’ज्योति मुंबई जाकर हिरोइन बनना चाहती है ।

ज्योति बताती हैं कि उनके गांव में लड़कियों को ज्यादा छूट नहीं दी जाती, मैट्रिक के बाद ही उनकी शादी करा दी जाती है। उन्हें पढ़ने कामौका तक नहीं मिलता। लड़कियां यहां अपनी मर्जी का कुछ नहीं कर सकतीं। उनके सपनें क्या हैं कुछ मायने नहीं रखता। लेकिन एक चपरासी की बेटी के सपने मामूली हों यह जरूरी तो नहीं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here