Disqus Shortname

Breaking News

पिता की ख्वाहिश वर्ल्ड कप जीतकर लौटे हरमनप्रीत कौर

मैं खुद को साबित करना चाहती थी: हरमनप्रीत कौर




वुमंस वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भारत ने 6 बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हरा दिया। पंजाब के मोगा की हरमनप्रीत कौर ने 171 रन की पारी खेली। इसमें हरमनप्रीत कौर ने 20 चौके और 7 छक्के लगाए। हरमन अब तक 73 वन-डे और 68 टी -20 मैच खेल चुकी हैं। 
चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरी हरमनप्रीत ने 115 गेंदों में 20 चौके और 7 छक्के लगाकर नाबाद 171 रन की अविश्वसनीय पारी खेलते हुये भारत को 42 ओवर के मैच में 281 के विशाल स्कोर तक पहुंचाया था। इस मैच में गेंदबाजों ने भी जबरदस्त खेल दिखाते हुये आस्ट्रेलिया को 245 पर ढेर कर फाइनल में जगह बना ली जहां वह खिताब के लिये इंग्लैंड से भिड़ेगी।

प्लेयर ऑफ द मैच बनीं 

28 वर्षीय हरमनप्रीत ने मैच के बाद कहा पूरे टूर्नामेंट में मुझे ठीक से बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला। लेकिन जब इस मैच में मेरे पास मौका आया तो मैं इसका पूरा फायदा उठाना चाहती थी और खुद को साबित करना चाहती थी। बल्लेबाज ने साथी खिलाड़ियों की भी उनकी पारियों और मदद के लिये प्रशंसा की। उन्होंने कहा मैं भगवान का धन्यवाद करना चाहती हूं कि मैंने जैसा सोचा वैसा ही हो पाया। मिताली राज और वेदा कृष्णामूर्ति ने भी बहुत ही अच्छी पारियां खेलीं और दीप्ति ने भी मुझे सहयोग किया।


पहली भारतीय महिला बल्लेबाज

हरमनप्रीत पहली भारतीय महिला बल्लेबाज भी हैं जिन्हें आस्ट्रेलिया की मशहूर बिग बैश लीग और किया सुपर लीग में खेलने का मौका मिला। हालांकि टूर्नामेंट में वह अब तक खुद को साबित नहीं कर सकीं क्योंकि मध्यओवरों में उन्हें पांच पारियों में केवल 91 गेंदे ही खेलने का मौका मिल सका था। लेकिन सेमीफाइनल में उन्होंने अपने करियर के तीसरे शतक से भारत को फाइनल का टिकट दिलाकर सारी कसर पूरी कर ली।

होना  चाहिए लड़कियों का सशक्तिकरण 

हरमनप्रीत की मां ने मैच के बाद कहा, ‘लड़कियों का सशक्तिकरण होना ही चाहिए। कोख में उनकी हत्या नहीं की जानी चाहिए। मेरी बेटी ने पूरे देश का सम्मान बढ़ाया है बाकी लड़कियों को भी इससे बढ़ावा मिलेगा।’ हरमनप्रीत के पिता हरमिंदर सिंह ने कहा, ‘मैं चाहता हूं कि वो फाइनल में और बेहतर करे और खिताब जीतकर देश का सम्मान बढ़ाए।’

कोहली जैसी काफी आक्रामक हैं हरमनप्रीत कौर, बहन ने खोले राज

भारत मां का सीना गर्व से चौड़ा करने वाली क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर टीम इंडिया (मेल) के कैप्टन विराट कोहली की तरह काफी आक्रामक हैं। ये कहना हमारा नहीं बल्कि हरमनप्रीत की बहन हेमजीत कौर का है। जिन्होंने ये भी बताया कि हरमनप्रीत के, भारत के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग, फेवरेट प्लेयर हैं और इसी कारण वो भी सहवाग की तरह विस्फोटक बैटिंग करना पसंद करती हैं।अपनी बहन की कामयाबी पर गौरवान्वित होने वाली हेमजीत की आंखें खुशी से हर बार उस वक्त छलछला उठती हैं, जब वो अपनी जान से प्यारी और देश के गौरव हरमनप्रीत की बातें करती है। प्यार से हरमनप्रीत को हैरी कहने वाली हेमजीत खुद एक स्कूल टीचर है।


परिवार का सीना फक्र से चौड़ा

साधारण परिवार में जन्मी असाधारण प्रतिभा की धनी हरमप्रीत के पिता हरमंदर भुल्लर मोगा में एक वकील के यहां मुंशी हैं और हरमन खुद भी मुंबई रेलवे में चीफ ऑफिस सुपरिटेडेंट की पद पर तैनात हैं। आज हरमन के घर पर लोगों की बधाई देने वालो का तांता लगा हुआ है, जिसे देखकर, बूढ़े दादा अमरसिंह जिनकी उम्र 91 साल है, का सीना फक्र से चौड़ा हो जाता है।


भारत की जीत की कामना


अब हरमन की तरह उनके घरवाले भी यही सोच रहे हैं कि भारत अंग्रेजों को फाइनल में बुरी तरह हराये और विश्वकप का खिताब अपने नाम करे। ऊपर वाले से प्रार्थना कर रहे मोगा के हर परिवार का सदस्य अब केवल भारत की जीत की कामना कर रहा है।


ट्वीटर पर  लगा बधाई देने वालों का  तांता

 आइए आपको बताते हैं कि किस किसने कौर को बधाई दी और बधाई में उन्होंने कौर के लिए क्या कहा।
 भारत के पूर्व खिलाड़ी बिशन सिंह बेदी ने कौर की तारीफ करते हुए लिखा, ”हरमनप्रीत कौर ने बेहतरीन शॉट खेले, कौर ने कपिल देव की याद दिला दी। शानदार प्रयास।

 भारत के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने लिखा, ”एक ऐसी पारी जो जिंदगी भर याद रहेगी। आपने भारतीय टीम से के स्कोर में 60 फीसदी से ज्यादा रन आपके। अब सब गेंदबाजों के ऊपर।
वहीं आर श्रीधर ने लिखा, ”किसी भी विश्व कप की सबसे बेहतरीन पारी, फिर चाहे वो पुरुष टीम हो या फिर महिला टीम।
भारतीय टीम के खिलाड़ी मोहम्मद कैफ ने लिखा, ”42 ओवरों में 281 रन का स्कोर शानदार है। हरमनप्रीत कौर ने किसी भी विश्व की अपनी जिंदगी की सबसे यादगाप पारी खेली है। शानदार।”

कौर की शानदार पारी की बदौलत टीम इंडिया ने 42 ओवरों में 4 विकेट खोकर 281 रन बनाए। कौर ने लाजवाब बल्लेबाजी की और 115 गेंदों में नाबाद 171 रनों की पारी खेली। कौर ने अपनी पारी में 20 चौके और 7 छक्के लगाए। कौर के अलावा मिताली राज ने (36), दीप्ति शर्मा ने (25) रनों की पारी खेली। इसके अलावा कौर भारत की तरफ से किसी भी विश्व कप में सर्वोच्च रन बनाने वाली खिलाड़ी बन गईं। कौर अंत तक आउट नहीं हुईं नाबाद पवेलियन लौटीं।. .

No comments