Disqus Shortname

Breaking News

DISTRICT TOPPER ASHISH BECOME STATE TOPPER IN BCECE BOARD

मिलिए आशीष से, 12वीं के जिला टॉपर से बने बीसीईसीई के स्टेट टॉपर




बीसीईसीई में सामान्य वर्ग में स्टेट टॉपर

लखीसराय के लाल आशीष कुमार ने एक बार फिर जिला का मान बढ़ाया है। बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा (बीसीईसीई) में वह स्टेट टॉपर बना है। पीसीएम ग्रुप में आशीष को फिजिक्स में 166, गणित में 178 और केमेस्ट्री में 264 अंक आए हैं। आशीष पिछड़ा वर्ग से आते हैं, लेकिन कुल 608 अंक लाकर सबको पछाड़ते हुए उन्होंने सामान्य वर्ग में टॉप किया है। 
आशीष उत्क्रमित मध्य विद्यालय, खगौर में प्रधानाध्यापक संजय कुमार के पुत्र हैं। उसने चानन प्रखंड के प्लस टू राजकीय संपोषित उच्च विद्यालय मननपुर से 12वीं की परीक्षा दी और 417 अंक लाकर जिला टॉपर बना। वह स्टेट में 11वें नंबर पर था। इससे पहले धनबाद में हाई स्कूल से पढ़ाई करते हुए वह 10वीं में झारखंड बोर्ड से सेकंड टॉपर रहा।
आशीष ने इंटर परीक्षा के साथ जेईई मेन निकला और जेईई एडवांस में ओबीसी में 1863वां रैंक लाया जोकि सामान्य में 10,326वां रैंक था। उसके बाद आईआईटी, बिहटा में काउंसेलिंग हुई और उसे बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय(बीएचयू) के आईआईटी में सिविल ब्रांच मिला है। वहां 20 से ऑनलाईन पंजीकरण है, 24 को उसे रिपोर्ट करना है, 25 को एडमिशन लेना है।

एक के बाद एक उपलब्धि से आशीष चर्चा में आए

आशीष कुमार ये नाम बीते डेढ़ महीने में ही पढऩे-लिखनेवाले वर्ग के जेहन में छा गया। एक ऐसा छात्र, जिसने सरकारी स्कूल से ही 12वीं बोर्ड की परीक्षा दी, जिला टॉपर बना। यहां तक कि राज्य भर में 11वें स्थान पर रहा। फिर जेईई मेन और एडवांस में सफलता हासिल की और अब जाकर जब रविवार की देर शाम बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा का रिजल्ट आया, तो उसमें भी आशीष का नाम सबसे टॉप पर है।
निजी स्कूलों की चकाचौंध और महंगे कोचिंग संस्थानों की आबो-हवा का खुद पर असर नहीं होने दिया। घर के संस्कार, शिक्षक पिता से मिले मार्गदर्शन और कड़ी मेहनत की बदौलत आशीष ने पिछले कुछ दिनों में जो उपलब्धियां हासिल की, उसने देखते ही देखते आशीष को चर्चा में ला दिया। 

मेरिटोरियस रहा है पारिवारिक बैक्ग्राउंड

आशीष उत्क्रमित मध्य विद्यालय, खगौर में प्रधानाध्यापक संजय कुमार के पुत्र हैं, जिनके पास उत्क्रमित प्लस टू विद्यालय का भी प्रभार है। वहीं आशीष की मां मंजू कुमारी भी प्राथमिक विद्यालय, जखराज स्थान में शिक्षिका हैं। आशीष की बहन शिवांगी भी 12वीं बोर्ड में जिला में सातवें स्थान पर रही थी। उसने भी बीसीईसीई में सफलता प्राप्त की है। आशीष के बड़े पापा रघुनंदन प्रसाद साव एयर फोर्स में विंग कमांडर से रिटायर्ड हुए हैं, जोकि बीटेक में गोल्ड मेडलिस्ट रहे थे। मंझले चाचा सैनिक स्कूल, तिलैया से एनडीए के जरिए लेफ्टिनेंट कर्नल बने। जबकि दादा फौजी साव सामान्य मजदूर थे और मेहनत से बच्चों को पढ़ाया। 

No comments