Disqus Shortname

Breaking News

DEEPTI SHARMA BIOGRAPHY IN HINDI

दीप्ती शर्मा (भारतीय महिला क्रिकेटर )

DEEPTI SHARMA (INDIAN WOMAN CRICKETER)


एक लड़की कोने में बैठ कर ध्यान से प्लेयर्स का प्रैक्टिस  देख रही थी . इसी बीच एक बॉल उसकी तरफ आई, कुछ बच्चों ने वो बॉल वापस करने को कहा. उसने बॉल उठाया और निशाना साधकर विकटों पर दे मारा, गिल्लियां बिखर गईं और सबकी नज़रे जम गईं, उस लड़की पर. उस समय पूर्व भारतीय महिला खिलाड़ी हेमलता कला भी वहां प्रैक्टिस कर रहीं थी. उन्होंने पूछा ये लड़का कौन है? सुमित ने कहा मैम ये मेरी बहन है. बॉयकट लुक में ये लड़की आज की टीम इंडिया की धांसू ओपनर दीप्ति शर्मा थी. 






आगरा में रेलवे क्लर्क भगवान शर्मा के सात बच्चों में सबसे छोटी बेटी बहुत जिद्दी थी. बेटा क्रिकेट सीखने जाता तो साथ चलने की जिद करती. रोज मना किया जाता, मगर वो हार नहीं मानती. फिर एक दिन सबसे हार मान ली और भाई सुमित के साथ क्रिकेट ग्राउंड पहुंच गई. पहले दिन जब इस नौ साल की लड़की ने एक बड़ा मैदान देखा तो देखती रह गई. चारों ओर  प्लेयर्स गेंद-बल्लों से प्रैक्टिस कर रहे थे. कोने में बैठ कर ध्यान से देखने लगी. इसी बीच एक बॉल उसकी तरफ आई, कुछ बच्चों ने वो बॉल वापस करने को कहा. उसने बॉल उठाया और निशाना साधकर विकटों पर दे मारा, गिल्लियां बिखर गईं और सबकी नज़रे जम गईं, उस लड़की पर. उस समय पूर्व भारतीय महिला खिलाड़ी हेमलता कला भी वहां प्रैक्टिस कर रहीं थी. उन्होंने पूछा ये लड़का कौन है? सुमित ने कहा मैम ये मेरी बहन है. बॉयकट लुक में ये लड़की आज की टीम इंडिया की धांसू ओपनर दीप्ति शर्मा थी. कहा जाता है कि दस साल पहले हेमलता ने उसे कह दिया था कि वो आगे चलकर बड़ी प्लेयर बन सकती है और यहीं से दीप्ति को क्रिकेट की ट्रेंनिंग मिलनी शुरू हो गई.

क्रिकेट में  बनाया कैरियर

हेमलता की कही उस बात के बाद दीप्ति ने क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया. उनके बेसिक पर बहुत ज्यादा काम नहीं करना पड़ा क्योंकि दीप्ति एक नेचुरल टैलंट वाली क्रिकेटर हैं. अगले दो सालों में उन्होंने यूपी अंडर-19 के ट्रायल्स भी दिए लेकिन उनकी उम्र कम होने की वजह से टीम में नहीं लिया गया. इस बीच हेमलता कला के साथ वो अपनी कला में निखार ला रही थीं. फिर आया साल 2010 और इस साल अंडर-19 ट्रायल मैच में दीप्ति ने 65 रन बनाने के साथ ही अपने मीडियम पेस बॉलिंग से 3 विकेट भी लिए. इस धाकड़ ऑलराउंड परफॉरमेंस की बदौलत उन्हें उत्तर प्रदेश अंडर-19 टीम में चुन लिया गया.

कानपुर में विदर्भ के खिलाफ बनाए उनके 114 रन ने सीनियर स्टेट टीम के लिए उनकी दावेदारी पेश कर दी. उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ ने मात्र 15 साल की उम्र में उन्हें सीनियर स्टेट टीम में शामिल कर लिया. यहां से उनकी नेशनल टीम में जगह बनाने की फाइट शुरू हुई. इसमें उनका साथ दिया उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ की अध्यक्ष और नेशनल सेलेक्टर रीता डे ने. रीता दीप्ति के टैलेंट को भांप गईं थी.

टीम इंडिया में डेब्यू

दीप्ति शुरू से ही मीडियम पेसर थी. लेकिन रीता को लगता था कि उनकी बॉलिंग उनके इंडियन टीम में सेलेक्शन में रोड़ा बनेगी. क्योंकि दीप्ति की लंबाई कुछ ज्यादा नहीं थी इसलिए वो मीडियम से अच्छा स्पिन फेंक सकती थी. रीता के कहने पर दीप्ति ऑफस्पिन  करने लगीं. 2014  में दीप्ति को इंडिया A टीम में चुना गया जहां उन्होंने नाबाद 53 रन की पारी खेली. उनकी इस पारी के बाद उन्हें इसी साल टीम इंडिया से कॉल आ गया.  साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के आखिरी मैच के लिए दीप्ति को बुलाया गया. अपने पहले मैच में बैटिंग में तो कुछ खास नहीं कर पाईं लेकिन 2 विकेट लेकर अपना सेलेक्शन जस्टीफाई किया.

188 रन की खेली सबसे यादगार पारी

दीप्ति ने बेहद कम समय में अपनी बैटिंग, बॉलिंग और चुस्त फील्डिंग से टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की कर ली है. उन्होंने दुनिया भर में अपने अच्छे प्रदर्शन से अपने टैलेंट का लोहा मनवाया है. इसी की बानगी थी उनकी  पूनम राउत के साथ 320 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप जिसमें दीप्ति ने 188 रन पारी खेली. सबसे खास बात ये कि उस पारी में इस लेफ्टहैंड बल्लेबाज ने 27 चौके और दो छक्के जड़े थे. ये वीमन्स क्रिकेट में किसी भी वनडे पारी में लगाए गए चौकों का रिकॉर्ड है. सहवाग के 25 चौकों वाली पारी से भी ज्यादा है. दीप्ति ने ये पारी 17 मई को आयरलैंड के खिलाफ खेली थी जो महिला क्रिकेट का दूसरी सबसे बड़ी पारी है.

दीप्ति और पूनम की जोड़ी ने इस दौरान महिला क्रिकेट में इंग्लैंड की सारा और कैरोलीन की 229 रन की साझेदारी का रिकॉर्ड तोड़ा. वहीं पुरुषो में श्रीलंका के उपुल थरंगा और सनथ जयसूर्या के 286 रन के पहले विकेट की साझेदारी का रिकॉर्ड ध्वस्त किया. इस माइलस्टोन पर वीरेन्द्र सहवाग ने भी उन्हें ट्विटर करके बधाई दी.

गेंदबाजी में भी ढाया कहर 

यही नहीं गेंदबाजी में भी उन्होंने कहर ढहा रखा है. 2016 में श्रीलंका के खिलाफ हुए मुकाबले में उन्होंने एक मैच में 20 रन खर्च कर 6 विकेट लिए. जिसके बाद 5 या उससे अधिक विकेट लेने वाली इंडिया (महिला-पुरुष मिलाकर) की सबसे कम उम्र की क्रिकेटर बन गई हैं. दीप्ति अपना पहला वर्ल्ड कप खेल रही हैं और जिस तरह की इनकी अब तक की परफॉर्मेस रही है वो उन्हें लम्बी रेस का घोड़ा साबित करने के लिए काफी है.

दीप्ति शर्मा का प्रदर्शन 


साभार -LALANTOP
       

No comments